29 C
Ranchi
Saturday, October 23, 2021

Latest Posts

जेल से हुकूमत… देखें वीडियो

Ranchi (Neeraj Thakur) : बड़का खुराफाती (Gangster) सुजीत सिन्हा, अमन साहू और अमन सिंह तीनों के तीनों जेल के अंदर… फिर भी हुकुमत बरकरार। अंदर और बाहर नाम का खौफ। अपराध की गाथा से मोटी होती जा रही तीनों की पुलिस फाइल। आतंक का धार ऐसा कि जब जहां चाहा, जो चाहा… कर डाला। शासन प्रशासन का कोई डर भय नहीं। कई बार तो डेट देकर विकेट गिरा देता है। जेल के अंदर से मोबाइल फोन के जरिये छोटे-बड़े कारोबारियों और बिल्डरों को डराना, हड़काना और उनसे माल बटोर लेना इनकी फितरत। जमीन, कोयला, बालू माफियाओं की पूरी की पूरी लिस्ट इन गैंगस्टरों के पास। संभवतः इनकी लिस्ट पुलिस के पास भी नहीं। सबका मोबाइल नंबर भी झटके में हासिल कर लेता है। नेटवर्क इतना तगड़ा कि उसे भेद पाना पुलिस के वश में भी नहीं। बेखटके मर्डर, खून-खराबा, किडनैपिंग और रंगदारी जैसे संगीन जुर्म की गाथा लिख जाता है।

ऐसा नहीं है कि इन Gangster और उनके गुर्गों के बारे झारखंड पुलिस को पता नहीं। सबकुछ पता है पर न जानें क्यों इनका नाम सामने आते ही कुछ गिने-चुने कानून के पहरेदार बन जाते हैं मौनी बाबा। हालांकि डीजीपी नीरज सिन्हा ने इन गैंगस्टरों के कमर की रीढ़ तोड़ देने की ठानी है। आईजी अभियान अमोल वेणुकांत होमकार को यह जिम्मेदारी सौंपी गयी है कि ऐसा वाण चलाएं कि बेजुबां बन कर रह जायें ये जालिम।

अब इस काम में एटीएस को लगाया गया है। एटीएस ने सात जिलों में ताबड़तोड़ कार्रवाई कर अपने मकसद का साफ संकेत दे डाला। सबसे सनसनीखेज खुलासा एटीएस ने यह किया कि कुख्यात गैंगस्टों के गुर्गों के पास लाइसेंसी हथियार तक है। हालांकि एटीएस का दावा है कि यह लाइसेंस नागालैंड के दीमापुर से गलत तरीके से हासिल किया गया है। ऐसी ही एक लाइसेंसी रेगुलर पिस्टल गुर्गा समीर कुमार बागची उर्फ कल्लू बंगाली के घर से मिली है। कल्लू के पास से 155 और उसकी पत्नी आरती बागची के पास से 116 जिन्दा गोलियां मिली। कल्लू बंगाली गैंगस्टर अमन साहू का गुर्गा है।

एटीएस ने दो दिनों के अंदर रांची के अमन साहू उर्फ अमन साव, आकाश राय उर्फ मोनू, समीर बागची उर्फ कल्लू बंगाली, रामगढ़ में रहने वाले सैफ अलि, अनूप प्रसाद, आनंद सोनकर उर्फ राहुल सोनकर, खुर्शीद अंसारी उर्फ कुर्शीद आलम और राहुल दुबे के घर छापामारी की गई। वहीं हजारीबाग में जुगेश्वर महतो, शाहरुख अंसारी उर्फ तिवारी खान, पंकज करमाली उर्फ खेतिया के घर छावा बोला गया। बोकारो में दुर्गा महतो, पलामू में हरि तिवारी, चतरा में आशीष साहू उर्फ पकौड़ी और धनबाद में अभीजीत सिंह उर्फ संटी सिंह एवं सुनील पासी के घरों में तलाशी ली गई। एटीएस की टीम को जिला पुलिस का सहयोग मिला। छापामारी में जमीन के खरीद बिक्री संबंधित एग्रीमेंट, रजिस्ट्री और खरीद-बिक्री संबंधित कई दस्तावेज मिले हैं। बैंक खातों से मिले संबंधित दस्तावेजों को खंगाला जा रहा है। जेवर खरीदने संबंधित भी कई दस्तावेज मिले हैं।

इसे भी पढ़ें : आखिरकार भू-माफिया कमलेश का खूंटा डोला, गिरफ्तार… अब कई रसूखदार भी होंगे बेनकाब, देखें वीडियो

इसे भी पढ़ें : 15 साल बाद हिमाचल से रांची लाई गई बिनीता जब मां से मिली… देखें क्या हुआ

गिने-चुने कुछ गुंडों ने झारखंड पुलिस के नाक में दम कर रखा है। चाहे वारदात बड़ी हो या छोटी हर किसी कांड के पीछे इन गुंडो का ही नाम उछल कर सामने आता है। झारखंड पुलिस हाई कमान ने फिलहाल तीन गिरोह सरगना सुजीत सिन्हा, अमन साहू और अमन सिंह गैंग के खुराफातियों की जीवन कुंडली खंगालना शुरू किया है। वहीं इनके पनाहगार, मददगार और जमानतदार को भी चिन्हित किया जा रहा है। मददगारों में कुछ सफेदपोश चेहरों का भी नाम उछल कर सामने आया है। कुछ खाकी और खादी के गहरे ताल्लुकात रहने की बात भी सामने आई है। ये वैसे खाकी और खादी वाले हैं जो जमीन की खरीद-बिक्री में जाने जाते हैं। कोयला, लोहा, बालू तस्करों के साथ भी इनका मेलजोल बढ़िया है। एक मोटी रकम गैंग के सदस्यों तक प्रति माह पहुंचती है।

एक गिरोह के एक कुख्यात शूटर बीमार पड़ा। उसके लीवर में गड़बड़ी थी। उसका इलाज रांची के एक मशहूर बिल्डर ने कराया। रांचे से लेकर वेल्लोर तक उसका इलाज चला। खर्च बिल्डर ने उठाया। हवाई जहाज से आने-जाने का टिकट तक उपलब्ध कराया। यह बिल्डर बॉडी गार्ड लेकर चलता है।

पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास के बेहद करीबी माने जाने वाले भाजपा नेता सह बिल्डर से 2 करोड़ रंगदारी मांगने में मयंक सिंह का नाम उछला। मयंक सिंह कोई नया नाम नहीं है। अपराध जगत में मयंक सिंह को गैंगस्टर अमन साहू का काफी करीबी माना जाता है। यह अक्सर अत्याधुनिक हथियारों के साथ अपना फोटो भी सोशल मीडिया पर वायरल करते रहता है। उसका लोकेशन कभी नेपाल, कभी बंगाल, कभी झारखंड तो कभी बिहार बताता है। गुजरे दो साल से यह रंगदारी मांगने और लोगों को हड़काने में जुटा है। पुलिस अब तक इसका कुछ भी नहीं बिगाड़ पाई है।

गैंगस्टर अमन साहू वर्तमान में रांची सेंट्रल जेल में बंद है। वह जेल के अंदर से ही बाहर अपने गैंग को ऑपरेट कर रहा है। कुछ दिन पहले धनबाद में मारे गये नीरज तिवारी मामले में भी अमन साहू गैंग का ही नाम उछला। इस गैंग के 7 लोग पकड़े गये। सबने अमन साहू गिरोह के सदस्यों के ठिकानों के बारे में पुलिस को कई चौंकाने वाली जानकारी दी। जेल के अधीक्षक हमीद अख्तर के अनुसार अमन साहू सेल में बंद है। बाहर कड़ा पहरा भी है। उसे तीन दिन पहले सेल में डाला गया है। वहीं कुख्यात गैंगस्टर अमन सिंह और गेंदा सिंह भी सेल में बंद है।

इसे भी पढ़ें : सिर्फ 75 घंटे में बदल गई जाकिर हुसैन पार्क की सूरत, देखें…

इसे भी पढ़ें : दगाबाज प्रेमी ने दोस्तों से लूटवा दी आबरू… देखें वीडियो

इसे भी पढ़ें : यूपी के शूटर को मिली थी भाजपा नेता की मुड़ी की कीमत, सुनें क्या बोले रुरल एसपी

इसे भी पढ़ें : नई-नवेली दुल्‍हन को रेलवे स्‍टेशन पर छोड़ गायब हो गया पति, देखें वीडियो

इसे भी पढ़ें : रूह कंपकपा जायेगी इस लड़का-लड़की की हालत देख, देखें वीडियो

इसे भी पढ़ें : PNB के Locker से गायब जेवर ICICI की तिजोरी में, देखें वीडियो

Latest Posts

Don't Miss

Photo News