29 C
Ranchi
Saturday, October 23, 2021

Latest Posts

PNB के Locker से गायब जेवर ICICI की तिजोरी में, देखें वीडियो

Palamu : पंजाब नेशनल बैंक(PNB), धर्मशाला रोड डाल्टनगंजल के लॉकर से चोरी हुए सोने के जेवर ICICI बैंक के तिजोरी में मिला। यहां की तिजोरी में 456 ग्राम रखा सोना पाया गया। पलामू पुलिस ने बैंक को सख्त हिदायत दी है कि ये सोने के जेवर यहां से किसी भी हालत में नहीं निकले। ICICI बैंक को लिखित हुक्म दिया गया है। पुलिसिया जांच से खुलासा हुआ है कि कपिल सोनी ने 180 ग्राम सोना ICICI बैंक में गिरवी रखा। वहीं बड़े कारोबारी 240 ग्राम सोने के जेवर जमा कर गोल्ड लोन लिया। यह सनसनीखेज खुलासा पलामू के एसपी चंदन सिन्हा ने बुधवार को आयोजित एक प्रेस कांफ्रेंस में किया।

PNBके बैंक लॉकर से सोने के जेवरात चुराने में उसी बैंक के मैनेजर गंधर्व और डिप्टी मैनेजर प्रशांत कुमार मुख्य गुनाहगार है। दोनों को गिरफ्तार कर लिया गया है। वहीं इनके गुनाह में साथ देने वाले अन्य 11 लोगों को भी गिरफ्तार कर लिया गया है। गिरफ्तार मैनेजर गंधर्व और डिप्टी मैनेजर प्रशांत कुमार को निलंबित कर दिया गया है। वहीं बाकी संदेही गुनाहगारों पर विभागीय जांच शुरू कर दी गई है। यह सारा राज तब खुला जब कृषि वैज्ञानिक डॉ अशोक कुमार सिन्हा ने बीते 14 सिंतबर को प्राथमिकी दर्ज कराई। उनके लॉकर से 46 भर सोने के जेवरात गायब कर दिया गया।
कर्ज में डूबे डिप्टी मैनेजर प्रशांत अखबार में छपी एक खबर पढ़कर बैंक लॉकर से माल उड़ाने का न्यूज पढ़ा था। खबर पढ़ने के बाद ही प्रशांत के मन में यह ख्याल आया कि यह कर्ज से उबरने का बहुत बढ़िया तरीका होगा। प्रशांत सबसे पहले अपने दोस्त मनोज सिंह चेरो को सबकुछ बताया। मनोज सिंह उसका साथ देने को तैयार हो गया। मनोज ने बैंक की तिजोरी झटके में खोल देने वाले मिस्त्री मकबूल से मिलवाया। मकबूल अंसारी ने लॉकर खोल देने का दावा किया। एक लॉकर खोलने की कीमत 10 हजार रुपये मांगी। लॉकर खोलने में प्रशांत की मदद बैंक का चपरासी कलाम करता था। कलाम का काम वैसे तो लॉकर बंद कर चाभी को चेस्ट तक पहुंचाना था।

डिप्टी मैनेजर के कहने पर वह लॉकर की चाभी टेबल के दराज में ही रख देता था। लॉकर से निकाले गये माल को बजार में खपाने का काम राजेश प्रसाद गुप्ता, प्रशांत सोनी, ओमप्रकाश चंद्रवंशी उर्फ रिशु करता था। यह तीनों गहने जेवरात को गिरवी रख, पैसा उठा लिया करता था। अब तक कुल 9 लॉकर तोड़े गये। इसी साल के फरवरी महीने में लॉकर नंबर 88 और 18 को तोड़ा गया था। जब लॉकर मालिक गुरजीत सिंह और एनएन तिवारी जब अपने लॉकर से जेवर गायब पाये थे तो इसकी शिकायत मैनेजर गंधर्व से शिकायत की। दोनों कस्टमर को उनका सामान लौटा पूरे मामले को पी गये। प्रशांत कुमार ने अपने साथियों के साथ मिलकर लॉकर नंबर 23, 24, 28, 46, 53, 54 और 72 को तोड़ा है। लॉकर नंबर 23, 28, 46, 54 और 72 खोले गए। उनके सारे जेवर गायब पाए गए। वहीं लॉकर नंबर 23 और 53 के मालिक को सूचना दे दी गई है।

डिप्टी मैनेजर प्रशांत ने चुराये कुछ जेवर सम्मू आलम के बेटे वसीम और जेवर कारोबारी शिवम सोनी के पास बंधक रखा है। वसीम के पास लॉकर नंबर 28 और 23 के जेवर पहुंचे थे। इन दोनों के पास से जेवर बरामद कर लिया गया है। लॉकर नंबर 28 और 23 में रखे जेवर छड़-सीमेंट कारोबारी राजेश गुप्ता के पास बंधक था। इसमें से कुछ जेवर राजेश गुप्ता ने रवि खतरी को रखने के लिए दिया था। रवि ने कुछ जेवर कारोबारी मोहित सोनी के पास रखा था। ये सारे जेवर पुलिस ने बरामद कर लिये। प्रशांत ने अपने दोस्त रिशु चंद्रवंशी से 15 लाख रुपये लिये थे। बदले में उसे लॉकर नंबर 53, 23, 40 और 54 का सारा जेवर दे दिया था। रिशु कुछ जेवर अपनी पत्नी को रखने और पहनने के लिएल दे दिया था। बाकी जेवर रेड़मा के बाबाजी के पास गिरवी रखा है। यङ जेवर फिलहाल पुलिस के हाथ नहीं लग पाई है।
PNB के तिजोरी से गहने जेवरात चुराने और खपाने में शामिल लगभग 13 लोगों को गिरफ्तार कर लिया। वहीं रिशु की पत्नी और सूदखोर बाबा की खोज में जुटी है।

गिरफ्तार लोगों में बैंक मैनेजर गंधर्व, डिप्टी बैंक मैनेजर प्रशांत कुमार, मकबूल अंसारी, प्रशांत उर्फ पिंटू सोनी, राजेश गुप्ता, वसीम आलम, कलाम, कपिल सोनी, जितेंद्र सोनी उर्फ रसगुल्ला, मोहित सोनी, शिवम सोनी, अबदुल्ला अंसारी और रवि खतरी शामिल हैं। देखें, सुनें और समझे… क्या बोले पलामू एसपी चंदन कुमार सिन्हा और कृषि वैज्ञानिक डॉ अशोक कुमार सिन्हा…

इसे भी पढ़ें :किर्गिस्तान की महिला और बेटे का दिल्ली में मर्डर, इस बिंदु पर जांच

इसे भी पढ़ें :Army Helicopter Crash, जख्‍मी 2 पायलटों ने तोड़ा दम

इसे भी पढ़ें :BREAKING : महंत नरेंद्र गिरि की फंदे से लटकी मिली लाश, सुसाइड नोट मिला

इसे भी पढ़ें :खूब रोती थी मनवा, एसपी ने पोछा आंसू… देखें वीडियो

इसे भी पढ़ें :Army जवान की फंदे पर झूलते मिली लाश

इसे भी पढ़ें :11 साइबर अपराधी चढ़े पुलिस के हत्‍थे

इसे भी पढ़ें :डूबने से मरी 2 बच्चियों के परिजनों को मिला पीएम आवास

इसे भी पढ़ें :झारखंड के 23 श्रमिक महाराष्ट्र से इस वजह से लौटे वापस

इसे भी पढ़ें :महनार में नाबालिग हत्‍याकांड : मकसद में नहीं हुआ कामयाब तो मार डाला

Latest Posts

Don't Miss

Photo News