spot_img
Thursday, August 18, 2022
spot_img
Thursday, August 18, 2022
spot_img
spot_img

Related articles

बेटे की जिद में बाप बना इंजीनियर, बनाई बैट्री से चलने वाली कार

- Advertisement -

बेटा कार में घूमने की जिद करता था , पिता ने लॉकडाउन में किया आविष्कार

बड़कागांव (हजारीबाग): हजारीबाग जिले के बड़कागांव मध्य पंचायत के मुस्लिम मोहल्ला निवासी अलाउद्दीन अंसारी उर्फ कल्लू मिस्त्री ने अपने बच्चे की जिद पूरी करने के लिए बैट्री से चलने वाली खिलौना कार बना डाली। कल्लू मिस्त्री ने बताया कि लॉकडाउन में बैठे-बैठे बोर हो रहा था। उसी समय मेरा बेटा कार में घूमने की जिद करता रहता था। मेरी आर्थिक स्थिति ऐसी नहीं थी कि उसके लिए कार ला पाता।

इसे भी पढे : झारखंड हाईकोर्ट ने दी इलियास हुसैन को 2 माह की पैरोल

- Advertisement -

फिर मैंने सोचा कि क्यों न खुद एक कार बनाई जाए। बस क्या था, उस दिन से अपने बच्चे के लिए बैट्री से चलने वाली कार बनाने में जुट गया। तीन महीने की कड़ी मशक्कत के बाद कार तैयार हो गई जो आज सड़क पर दौड़ रही है। इसे देखने के लिए बच्चे तो दूर बड़े और बुजुर्ग भी पहुंच रहे हैं और सभी लोग कल्लू मिस्त्री के इस आविष्कार को दाद दे रहे हैं।

इसे भी पढे :बोफोर्स होवित्जर तोपों को तैयार करना हुआ शुरू, लद्दाख में होगी तैनाती

कार की खासियत यह है कि नॉर्मल कार की तरह आगे चलने के साथ-साथ इसमें बैक गियर का भी इस्तेमाल किया जाता है। बताया कि यह कार बनाने के लिए उसने 24 वोल्ट व 250 वाट का मोटर, 24 वोल्ट की बैटरी के अलावा एलईडी बल्ब सहित अन्य चीजों का प्रयोग किया है। कार को चार घंटे चार्ज करने से यह 4 से 5 घंटे का बैकअप देता है।

इसे भी पढे : इस दिवाली आपके घर में ‘लक्ष्मी’ के साथ ‘बम’ भी आएगा : अक्षय कुमार

कार में एक वयस्क व्यक्ति भी सफर कर सकता है। कल्लू ने कहा कि मैं ऐसे ही इससे भी बड़ा रूप देकर बड़ी कार बना सकता हूं। ग्रामीण रवि राम, युगल महतो, विनोद राम सहित अन्य ने बताया कि कल्लू मिस्त्री टीवी, फ्रिज, पंखा सहित सभी फोर व्हीलर का कार्य अच्छी प्रकार से जानता है।

इसे भी पढे : डायन-बिसाही पीड़ित परिवार को झालसा ने पहुंचाई मदद

- Advertisement -
spot_img
spot_img
spot_img
spot_img

Published On :

Recent articles

Don't Miss

spot_img