spot_img
Tuesday, September 27, 2022
spot_img
Tuesday, September 27, 2022
spot_img

Related articles

spot_img

Munger में फिर भड़की हिंसा, आक्रोशित लोगों ने थाना फूंका

spot_img
- Advertisement -

डीएम -एसपी हटाए गए, जगह-जगह पुलिस बल की तैनाती

- Advertisement -

मुंगेर : प्रतिमा विसर्जन के दौरान हुए पुलिसिया कार्रवाई को लेकर Munger में आज फिर बवाल हुआ है. गुस्साए लोगों ने पूरब सराय थाने को आग के हवाले कर दिया। मूर्ति विसर्जन के दौरान हुए हिंसा के विरोध में आज सैकड़ों युवा सड़क पर उतर आए थे और पुलिस अधीक्षक कार्यालय पहुंचे और जमकर हंगामा किया।

Munger के हालात को देखते हुए चुनाव आयोग ने जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक को हटाने का आदेश दिया है। इसके साथ ही पूरे मामले की जांच मगध के डिविजन कमिश्नर को दे दी गई है, उन्‍हें सात दिन में अपनी रिपोर्ट सौंपनी है। नए डीएम और एसपी की तैनाती आज कर दी जाएगी।

इसे भी पढ़ें : प्यार, धोखा, भरोसे का खून… Tara के इश्क का अंजाम, मारा गया सेना का जवान (VIDEO)

नाराज सैकड़ों युवाओं ने पहले पुलिस अधीक्षक कार्यालय पर प्रदर्शन किया. पुलिस कार्यालय के आगे लगे बोर्ड को भी उखाड़ फेंका । जिसके बाद भीड़ पूरब सराय थाने पहुंचा. जहां थाने के सामने खड़ी गाड़ी को आग के हवाले कर दिया गया। हालात बिगड़ते देख पूरे शहर में पुलिस बल की तैनाती कर दी गई है। जगह-जगह अतिरिक्‍त बल की तैनाती कर दी गई है।

पुलिसिया कार्रवाई से नाराज हैं लोग

प्रतिमा विसर्जन के दौरान हुए पुलिसिया कार्रवाई से लोग नाराज हैं। विरोध में चेंबर ऑफ कॉमर्स ने आज मुंगेर बाजार बंद बुलाया है। चैंबर ऑफ कॉमर्स ने व्यवसायियों से दुकान बंद करने की अपील की। घटना के विरोध में मुंगेर बाजार की अधिकतर दुकानें बंद रही।

डीएम ने गोलीबारी की घटना की जांच की कही बात

गोलीकांड पर Munger के डीएम का कहना है कि दीनदयाल चौक पर उपद्रव और फायरिंग की जो घटना हुई थी, उसके बाद हालात को नियंत्रित किया गया। निश्चित तौर पर यह मुंगेर के लोगों के कारण ही संभव हो पाया था कि शांतिपूर्ण चुनाव संपन्न हुआ और इसके लिए मुंगेर की जनता निश्चित तौर पर धन्यवाद की पात्र है।

डीएम ने कहा कि कुछ असामाजिक तत्वों के द्वारा बहुत बड़ी साजिश रची गई थी और उसी साजिश के कारण यह घटना घटी है, जिसका बहुत जल्द खुलासा हो जाएगा. मुफस्सिल थानाध्यक्ष और बासुदेवपुर ओपी अध्यक्ष को तत्काल प्रभाव से हटा कर लाइन हाजिर कर दिया गया है।

डीएम ने कहा कि किसी प्रकार के बल प्रयोग का कोई आदेश नहीं दिया गया था और पुलिस पर लगे आरोपों की जांच के लिए टीम गठित कर दी गई है। पुलिस के स्तर पर यदि कोई लापरवाही हुई है तो सजा इतनी कड़ी दी जाएगी, जिसे याद रखा जाएगा।

- Advertisement -
spot_img
spot_img
spot_img

Published On :

spot_img
spot_img

Recent articles

spot_img

Don't Miss

spot_img