spot_img
Sunday, August 14, 2022
spot_img
Sunday, August 14, 2022
spot_img
spot_img

Related articles

भूमिहीन बनेंगे जमीन मालिक, Hemant राज में कोई भी भूखा नहीं रहेगा

- Advertisement -

रांची : मुख्यमंत्री Hemant Soren ने बड़ा ऐलान किया है। उन्होंने कहा कि राज्य में अब कोई व्यक्ति न तो भूखा रहेगा और न ही भूमिहीन रहेगा। दुमका विधानसभा क्षेत्र के गांदो में झामुमो प्रत्याशी बसंत सोरेन के पक्ष में चुनावी सभा में मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य के सभी भूमिहीनों को सरकार पट्टा देकर जमीन का मालिक बनाएगी।

CM Hemant Soren ने कहा – राज्य में कोई भी बिना वस्त्र नहीं रहेगा

उन्होंने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास ने साढ़े 11 लाख राशन कार्ड को बंद कर दिया था। हमारी सरकार ने 15 लाख नया राशन कार्ड बनाने का निर्णय लिया है, ताकि कोई भूखा न रहे। नये राशन कार्ड के लिए अभी पोर्टल खुला हुआ है। जिसके पास राशन कार्ड नहीं है, वे अभी भी आवेदन करें। मुख्यमंत्री ने 10 रुपए में धोती-साड़ी योजना की चर्चा करते हुए कहा कि अब इस राज्य में कोई भी बिना वस्त्र नहीं रहेगा।

- Advertisement -

इसे भी पढ़ें : प्यार, धोखा, भरोसे का खून… Tara के इश्क का अंजाम, मारा गया सेना का जवान (VIDEO)

मुख्यमंत्री Hemant Soren ने कहा कि हमारी सरकार ने आदिवासी, दलित और पिछड़ा वर्ग का आरक्षण बढ़ाने का निर्णय लिया है ताकि आपको अपना अधिकार मिल सके। उन्होंने पूर्व की रघुवर सरकार पर 11 और 13 जिला के नाम पर आदिवासी एवं गैर आदिवासी को बांटने का आरोप लगाते हुए कहा कि भाजपा जाति और धर्म की राजनीति कर लोगों को आपस में बांट कर तबाह करती रही है।

भाजपा पर साधा निशाना, कहा- बंद होने वाली है इनकी दुकानदारी

मुख्यमंत्री Hemant Soren ने भाजपा पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि झारखंड के बाद अब बिहार में भी भाजपा की सरकार सत्ता से उखड़ने जा रही है। दुमका उपचुनाव में झामुमो प्रत्याशी बसंत सोरेन के पक्ष में चुनावी सभा में मुख्यमंत्री ने कहा कि जिस तरह से हमलोगों ने सत्ता पर कब्जा किया है, अब भाजपा की राजनीतिक दुकानदारी बंद कर इन्हें गुजरात छोड़ आना है।

इसे भी पढ़ें : Shameful : देवघर में नवजात बच्ची को सड़क पर फेंका

उन्होंने भाजपा को बेईमान बताते हुए कहा अब इनसे छुटकारा पाने का समय आ गया है। उन्होंने कहा कि अभी भी किसानों, आदिवासियों, दलितों और अल्पसंख्यकों का शोषण बंद नहीं हुआ है। आज भी दिल्ली से ऐसी-ऐसी नीतियां बन रही हैं कि आने वाले समय में हमलोग अपने खेतों में बंधुआ मजदूर बन कर खत्म हो जाएंगे। मुख्यमंत्री ने केंद्र की कृषि नीति की आलोचना करते हुए कहा कि केन्द्र सरकार खेतीबाड़ी का निजीकरण करने जा रही है। इससे छोटे और मझोले व्यापारी भी मारे जाएंगे। दिल्ली, मुंबई और गुजरात में बैठा व्यापारी हमारे खेतों के अनाज का दाम तय करेगा।

इसे भी पढ़ें : Murder : डायन-बिसाही के डंक ने माता-पिता और बेटी के जीवन को लीला

- Advertisement -
spot_img
spot_img
spot_img
spot_img

Published On :

Recent articles

Don't Miss

spot_img