February 28, 2024
Wednesday, February 28, 2024
More
    17 C
    Patna
    16.1 C
    Ranchi
    12 C
    Lucknow
    spot_img

    डायबिटीज पेशेंट के लिए रामबाण है सोयाबीन, ऐसे करें सेवन

    spot_img

    Published On :

    कोहराम लाइव डेस्क: सोयाबीन प्रोटीन का मुख्य स्त्रोत माना जाता है। इसमें तकरीबन 36-40 प्रतिशत प्रोटीन होता है। इसके लिए सोयाबीन को सुपरफूड कहा जाता है। डॉक्टर्स हमेशा बीमार व्यक्ति को सोयाबीन खाने की सलाह देते हैं। इसमें प्रोटीन, एमिनो एसिड के अलावा विटामिंस और मिनरल्स पर्याप्त मात्रा में पाए जाते हैं। साथ ही विटामिन बी कॉम्प्लेक्स और विटामिन ई की मात्रा ज्यादा होती है। इसके अतिरिक्त सोयाबीन में आइसोफ्लेवॉन्स नामक गुणकारी तत्व पाया जाता है जो डायबिटीज के मरीजों के लिए रामबाण दवा है। इससे ब्लड शुगर (डायबिटीज) कंट्रोल में रहता है। कई शोध में खुलासा हो चुका है कि डायबिटीज के मरीजों को सोयाबीन का सेवन जरूर करना चाहिए।

    इसे भी पढ़ें :Corona को दूर भगाना है तो रोज रात में पीएं हल्दी वाला दूध

    सोया सप्लिमेंट्स से ब्लड शुगर कंट्रोल

    अगर किसी को टाइप-2 डायबीटीज है तो सोया सप्लिमेंट्स के जरिए ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल किया जा सकता है। डायबीटीज में शरीर का सिर्फ एक ही अंग प्रभावित नहीं होता, बल्कि यह धीरे-धीरे सभी अंगों को प्रभावित करने लगती है। सबसे ज्यादा असर कार्डियोवस्कुलर सिस्टम, किडनी और लिवर पर पड़ता है। इसलिए सोयाबीन का सेवन जरूरी है क्योंकि इसमें मौजूद आइसोफ्लेवॉन्स यानी फाइटोएस्ट्रोजन्स कार्डियोवस्कुलर डिजीज के रिस्क को कम करते हैं और किडनी व लिवर को हेल्दी रखते हैं।

    ऐसे करें सोयाबीन का सेवन

    अगर आपको सोयाबीन पसंद नहीं है, तो इसे कई तरीकों से बनाकर उसके स्वाद को बढ़ाया जा सकता है। इससे आप इसे आसानी से खा पाएंगे। चाहे तो आप इसका कीमा बनाकर खा सकते हैं, या फिर सब्जी के रूप। नहीं तो आप सोयाबीन को पीसकर दाल के मिश्रण में मिलाकर डोसा या फिर सोया की टिक्की बनाकर खा सकते हैं। कहने का मतलब है कि जब सोयाबीन डायबीटीज में इतनी फायदेमंद है, तो फिर क्यों न इसे डायट में शामिल किया जाए।

    इसे भी पढ़ें :Mind Sharp  रखने के लिए खाएं बादाम (Almonds)

    The American Diabetes Association की शोध में सोयाबीन के फायदे को बताया गया है। सोयाबीन में एमिनो एसिड पाया जाता है। सोया प्रोटीन में ग्लाइसिन और अर्गिनीन पाए जाते हैं जो शर्करा रक्त यानी बल्ड शुगर कंट्रोल करने में सहायक होते हैं।

    ऐसे करें सेवन

    सोयाबीन की सब्जी बनाकर सेवन कर सकते हैं। वहीं, सोयाबीन को फ्राई कर स्नैक्स रूप में भी सेवन कर सकते हैं। जबकि, सोयबीन पाउडर की टिक्की बनाकर भी सेवन किया जा सकता है। एक चीज़ का जरूर ध्यान रखें कि रोजाना सोयाबीन का सेवन जरूर करें।

    इसे भी पढ़ें :कई बीमारियों से बचा सकता है Green Onion

     

    - Advertisement -
    spot_img
    spot_img
    spot_img

    Related articles

    Weekly Horoscope ( साप्ताहिक राशिफल )