spot_img
Sunday, August 14, 2022
spot_img
Sunday, August 14, 2022
spot_img
spot_img

Related articles

जीवन में मोह से बढ़ता है अज्ञान, बढ़ जाते हैं Problems

- Advertisement -

कोहराम लाइव डेस्क : Problems की जीवन में कमी नहीं है। हर तरफ समस्याएं ही समस्याएं हैं। हम बस इसी के चक्रव्यूह में फंसे रहते हैं। समस्याओं के कई कारण होते हैं। उनमें से एक है मोह। मोह से अज्ञान बढ़ता है और फिर शुरू हो जाते हैं Problems। महाभारत में धृतराष्ट्र को दुर्योधन से इतना मोह था कि वह अपने पुत्र को गलत काम करने से भी रोक नहीं सके। धृतराष्ट्र को पुत्र मोह की वजह से धर्म-अधर्म ज्ञान ही नहीं रहा था। अंत में सबकुछ बर्बाद हो गया।

इसे भी पढ़ें : Dhanbad में झामुमो नेता और उनकी पत्नी की निर्मम हत्या

- Advertisement -

इसे भी पढ़ें : Murder @Garhwa : बच्चों की लड़ाई में दादी की हत्या

ज्ञान आने पर मोह नष्ट होता है, Problems में कमी आती है 

महाभारत में श्रीकृष्ण ने अर्जुन से कहा था जब ज्ञान की धारा बहती है तो सबसे पहले मोह को नष्ट करती है। मोह को इसलिए नष्ट करती है, क्योंकि मोह अज्ञान है।  मोह की वजह से जीवन में दुख ही आते हैं। मोह घर-परिवार से हो सकता है, सफलता का मोह हो सकता है, सुख-सुविधा और मान-सम्मान का मोह का हो सकता है। जहां मोह रहेगा, वहां दुख तो आएगा ही। मोह जब सफल होता है तो दुख मिलता है और जब असफल होता है तब भी दुख ही मिलता है। श्रीकृष्ण कहते हैं कि जब को मोह त्याग देता है तो उसे मेरी कृपा मिल जाती है। मोह रहित व्यक्ति परम आनंद प्राप्त करता है। इसीलिए मोह का त्याग करना चाहिए और जो हमारे पास है, उसी में संतुष्ट रहना चाहिए। ज्यादा पाने का मोह रहेगा तो दुख बढ़ना तय है।

इसे भी पढ़ें : सोशल मीडिया पर Mahendra Singh Dhoni की बेटी पर अभद्र टिप्‍पणी, बढ़ाई गई फार्म हाउस की सुरक्षा

इसे भी पढ़ें : Indian-Railways ने रिज़र्वेशन के नियमों में किया बड़ा बदलाव

इसे भी पढ़ें : Shameful : दो महिला समेत तीन लोगों को नग्न कर पीटा

- Advertisement -
spot_img
spot_img
spot_img
spot_img

Published On :

Recent articles

Don't Miss

spot_img