spot_img
Monday, August 8, 2022
spot_img
Monday, August 8, 2022
spot_img
spot_img

Related articles

spot_img
spot_img

बंगाल के पूजा पंडालों में श्रद्धालुओं की No Entries

spot_img

कलकत्ता हाई कोर्ट ने दिया आदेश, पंडाल में केवल आयोजकों की होगी इंट्री  

कोहराम लाइव डेस्‍क : कोरोना संकट के बीच दुर्गा पूजा पंडाल को लेकर कलकत्ता हाई कोर्ट से पश्चिम बंगाल सरकार को झटका लगा है. कलकत्ता हाई कोर्ट ने सभी पूजा पंडालों को नो No Entries घोषित किया है.

- Advertisement -

सभी पूजा पंडालों में श्रद्धालुओं की No Entries होगी। हाई कोर्ट ने आदेश दिया है कि पंडाल में केवल आयोजकों की एंट्री होगी और पंडाल के बाहर आयोजकों के नाम का उल्लेख किया जाना चाहिए. पंडाल परिसर में अधिकतम 25 सदस्यों की अनुमति है. कोर्ट ने कहा कि पंडाल में जाने वाले आयोजकों के नाम और संख्या फिक्स होगी और इसे रोज बदला नहीं जा सकता है.

इसे भी पढ़ें : महिला को आइटम कहने पर Twitter पर माफी मांगो कमलनाथ ट्रेंड पर

जस्टिस संजीब बनर्जी और जस्टिस अरिजीत बनर्जी की खंडपीठ ने नए प्रतिबंधों को लेकर यह आदेश दिया है, जो तुरंत प्रभाव से लागू किए गए हैं. जजों ने कोरोना के प्रसार को रोकने के लिए जारी गाइडलाइन पर राज्‍य सरकार द्वारा काम न करने को लेकर भी नाराजगी जताई।

इसे भी पढ़ें : Double Murder से सनसनी, कुल्‍हाड़ी से काटकर दो हॉकी खिलाड़ी की…

कोर्ट के आदेश के अनुसार पंडाल को कंटेनमेंट जोन माना जाएगा. कोर्ट ने कहा कि पुलिसकर्मी इस पर नजर रखेंगे कि आयोजकों द्वारा आदेश का ठीक तरीके से पालन किया जाए. पश्चिम बंगाल के डीजीपी और कोलकाता के पुलिस आयुक्त को इसे लेकर कोर्ट को रिपोर्ट सौंपनी है. बंगाल में 30 अक्टूबर को लक्ष्मी पूजा है और इससे पहले कोर्ट में सरकार को रिपोर्ट दाखिल करनी है.

मालूम हो कि राज्य के डॉक्टरों और मेडिकल स्‍टाफों ने कोरोना के प्रसार को रोकने के लिए बंगाल सरकार से अनुरोध किया था। डॉक्‍टरों का कहना था कि अगर कोरोना के प्रसार को नहीं रोका गया तो ये विकराल रूप धारण करेगा।

इसे भी पढ़ें : Snakebite : नहीं हुआ इलाज, ओझा-गुणी के फेर में तीन बच्चियों की मौत

- Advertisement -
spot_img
spot_img
spot_img

Recent articles

spot_img

Don't Miss

spot_img