मर्सिडीज-बेंज इंडिया ने हजारों कारों को मंगाया वापस, जानिए कारण

Published:

Kohramlive Desk : जर्मन लग्जरी कार निर्माता Mercedes-Benz India (मर्सिडीज-बेंज इंडिया) ने भारत में अपने 2,179 से ज्यादा वाहनों को वापस मंगाया है। मीडिया रिपोर्ट के  अनुसार, अक्तूबर 2005 और जनवरी 2013 के बीच अलग-अलग उत्पादित ML, GL (164 प्लेटफॉर्म) और R-Class (251 प्लेटफॉर्म) वाहनों को रिकॉल किया गया है। पिछले हफ्ते खराब ब्रेक के कारण यह निर्णय लिया गया है।

जंग के कारण ब्रेक बूस्टर में लीकेज

कंपनी ने बताया है कि लंबे समय तक चलने और पानी से संपर्क में रहने के कारण, जंग के कारण ब्रेक बूस्टर में लीकेज हो सकता है। ऐसी स्थिति में, ब्रेक से मिलने वाले सपोर्ट कम हो सकता है, जिससे वाहन को रोकने के लिए इस्तेमाल होने वाले ब्रेक पेडल फोक्स बढ़ सकता है। और/या इससे कार के रूकने की दूरी बढ़ सकती है। इसके साथ ही ब्रेक लगाते समय हिसिंग या एयरफ्लो शोर भी बढ़ सकता है। इसके अलावा, कंपनी ने कहा है कि गंभीर जंग के बेहद दुर्लभ मामलों में, विशेष रूप से हार्ड ब्रेकिंग के कारण ब्रेक बूस्टर को मैकेनिकल नुकसान पहुंच सकता है, जिससे ब्रेक पेडल और ब्रेक सिस्टम के बीच कनेक्शन फेल हो जाएगा।

वाहनों की होगी जांच

रिकॉल प्रक्रिया में संभावित रूप से प्रभावित वाहनों की जांच करना और इसके नजीते के आधार पर, जहां जरूरी हो, पुर्जों को बदलना शामिल होगा। यह ध्यान में रखते हुए कि सुरक्षित ड्राइविंग के लिए ब्रेक अनिवार्य हैं, संभावित रूप से प्रभावित वाहनों के ग्राहकों को निरीक्षण होने तक वाहन के इस्तेमाल से बचना चाहिए। आगे के निरीक्षण और प्रक्रिया के लिए नजदीकी मर्सिडीज-बेंज पार्टनर से संपर्क करना चाहिए।

इसे भी पढ़ें : मां से नाजायज रिश्ता रखने वाले का चीर डाला सीना… देखें वीडियो

इसे भी पढ़ें : Indian Army की भर्ती में बड़ा बदलाव, जानें नये नियम, शर्तें और सैलरी

इसे भी पढ़ें : अमन के इस शहर में कहां से आये पत्थर, कैसे रोई पुलिस… देखें वीडियो

इसे भी पढ़ें : जीन्स Indian, लाइफ स्टाइल Western, यही है पेट का सबसे बड़ा दुश्मन… सुनें क्या बोले Experts…

इसे भी पढ़ें : बदले की आग में धधकता दामाद बन गया खूनी, देखें वीडियो…

इसे भी पढ़ें : हॉलीवुड की इस पॉप सिंगर ने की दूसरी शादी, प‍हले पति ने किया हंगामा, देखें…

इसे भी पढ़ें : IBPS 8106 विभिन्‍न पदों पर करेगा बहाली, इस तारीख तक करना है अप्‍लाई

Related articles

Recent articles

Follow us

Don't Miss