spot_img
Thursday, August 18, 2022
spot_img
Thursday, August 18, 2022
spot_img
spot_img

Related articles

भगोड़े Nirav Modi की ब्रिटिश कोर्ट से सातवीं बार जमानत अर्जी खारिज

- Advertisement -

कोहराम लाइव डेस्‍क : भारतीय बैंकों को करोड़ों का चूना लगाकर भागे हीरा कारोबारी Nirav Modi की ब्रिटेन की वेस्टमिंस्टर मैजिस्ट्रेट की कोर्ट ने जमानत याचिका सातवीं बार खारिज कर दी। ब्रिटेन में उसे पिछले साल भारत के प्रत्यर्पण वारंट पर गिरफ्तार किया गया था। उसने कथित तौर पर नए सबूतों के साथ अपनी जमानत के लिए कोर्ट में आवेदन किया था, लेकिन, वह जज सैमुअल गूजी को प्रभावित करने में विफल रहा। वहीं, भारत की तरफ से इस मुकदमे की पक्षकार सीबीआई ने इसे अपनी जीत बताया है।

इसे भी पढ़ें : प्यार, धोखा, भरोसे का खून… Tara के इश्क का अंजाम, मारा गया सेना का जवान (VIDEO)

- Advertisement -

सीबीआई के एक वरिष्ठ अधिकारी ने इस मामले पर कहा कि कोर्ट द्वारा जमानत की अर्जी को बार-बार खारिज करना यूनाइटेड किंगडम के विदेश मंत्रालय और क्राउन प्रॉसिक्यूशन सर्विस सीबीआई के बीच शानदार तालमेल का नतीजा है। इस साल मार्च में Nirav Modi की हाईकोर्ट में आखिरी जमानत पर सुनवाई करते हुए न्यायमूर्ति इयान डोवे ने कहा था कि प्रस्तुत उपायों से मेरे फरार होने के जोखिम की केंद्रीय चिंता का निवारण नहीं किया गया है।

इसे भी पढ़ें : lovejihaad फिर Twitter पर छाया, Justice for Nikita ने जोर पकड़ा

उल्लेखनीय है कि मोदी ने पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) के साथ करीब दो अरब डॉलर की धोखाधड़ी को अंजाम दिया। इसे लेकर भारत में विभिन्न जांच एजेंसियों ने उनके खिलाफ मामले दर्ज किए हैं। इस मामले में मोदी के सहयोगी मेहुल चौकसी भी भारत में वांछित है। ब्रिटेन की क्राउन अभियोजन सेवा (सीपीएस) के जरिए भारत इस वांछित अभियुक्त के प्रत्यर्पण की मांग कर रहा है। पिछले साल मार्च में गिरफ्तार होने के बाद Nirav Modi इस समय दक्षिण लंदन में स्थित वांड्सवर्थ जेल में बंद है। वह जेल से वीडियो लिंक के माध्यम से वेस्टमिंस्टर मैजिस्ट्रेट कोर्ट की कार्यवाही से जुड़ा हुआ है। ब्रिटेन में भी कोरोना वायरस संक्रमण के कारण अदालतों की कार्यवाही वीडियोलिंक के माध्यम से ही की जा रही है।

- Advertisement -
spot_img
spot_img
spot_img
spot_img

Published On :

Recent articles

Don't Miss

spot_img