spot_img
Wednesday, August 10, 2022
spot_img
Wednesday, August 10, 2022
spot_img

Related articles

रेस्क्यू की गई 22 लड़कियों को CM Hemant Soren ने सौंपा नियुक्ति पत्र

- Advertisement -

रांची : CM Hemant Soren ने रांची के प्रोजेक्ट भवन में तमिलनाडू से रेस्क्यू की गई 22 लड़कियों को नियुक्ति पत्र सौंपा। लॉकडाउन का फायदा उठा कर झारखंड की इन 22 लड़कियों से तमिलनाडु में जबरन सिलाई और कढ़ाई काम कराया जा रहा था। सभी लड़कियां पिछले 6 महीने से अपने घर झारखंड वापस लौटना चाह रही थीं। लेकिन कन्याकुमारी स्थित यूनिसोर्स ट्रेंड इंडिया कंपनी प्रबंधन उनकी बातों को अनसुना कर रहा था। इन लड़कियों से ओवर टाइम भी कराया जा रहा था। यहां तक कि लड़कियों की अपने अभिभावकों से बात भी नहीं करने दिया जाता था। लड़कियों के अभिभावकों ने श्रम मंत्री सत्यानंद भोक्ता से संपर्क किया। मंत्री के आदेश पर रांची के राज्य प्रवासी श्रमिक नियंत्रण कक्ष ने स्थानीय एनजीओ की मदद से संबंधित कंपनी से संपर्क किया और सभी लड़कियों की सफल वापसी करायी गई। ये लड़कियां 11 अक्टूबर को दिल्ली के रास्ते रांची लायी गयी थीं।

इसे भी पढ़ें : Prayer : जगरनाथ महतो के लिए प्रार्थना, पत्नी और साथी मंत्री ने टेका मत्था

CM Hemant Soren ने कही ये बात…

- Advertisement -

इस मौके पर CM Hemant Soren ने कहा कि झारखंड से लाखों लोग रोजगार की तलाश में पलायन करते हैं। जब उन्होंने इससे जुड़े आंकड़ों को देखा, तो उन्हें काफी आश्चर्य हुआ कि खनिज संपदा से भरपूर इस राज्य में बेरोजगारी चरम पर है। बीते दिनों जब उनकी सरकार को पता चला कि तमिलनाडु में राज्य की 22 लड़कियों से जबरन काम कराया जा रहा है, तो सरकार ने पहल करते हुए लड़कियों को न केवल वहां से रेस्क्यू कराया बल्कि झारखंड में रोजगार भी देने की व्यवस्था की। मुख्यमंत्री ने कहा कि किशोर एक्सपोर्ट में इन लड़कियों को प्रतिमाह 10,600 रुपये वेतन दिया जायेगा। यह वेतन कोरोना को देखते हुए काफी सकारात्मक है।

इसे भी पढ़ें : Gangrape-murder केस में युवक को पकड़ा, विरोध में थाने का घेराव

इसे भी पढ़ें : सरना Dharma code के लिए आदिवासी संगठनों ने निकाली रैली

- Advertisement -
spot_img

Recent articles

Don't Miss

spot_img