spot_img
Thursday, August 18, 2022
spot_img
Thursday, August 18, 2022
spot_img
spot_img

Related articles

त्‍योहारों में आलू-प्‍याज की कीमत कम करने की कोशिश

- Advertisement -

30 हजार टन आलू और 25 टन प्‍याज आयात करेगी सरकार

कोहराम लाइव डेस्‍क : आलू और प्‍याज की बढ़ती कीमत को कंट्रोल करने के लिए सरकार रणनीति पर काम कर रही है। सरकार ने आलू और प्‍याज के आयात का फैसला किया है। देश में आलू की कीमतें 40 से 50 रुपये प्रति किलो पर पहुंच गई हैं, वहीं प्याज की कीमत भी 65 से 70 रुपये तक पहुंच चुकी है। इसे देखते हुए सरकार ने अब भूटान से 30 हजार टन आलू मंगाने का फैसला किया है। वहीं 25 हजार टन प्याज मंगाया जाएगा।  उपभोक्ता मामलों के मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि सरकार जल्द ही 25 हजार टन प्याज और 30 हजार टन आलू आयात करने जा रही है। उन्होंने प्याज और आलू की घरेलू सप्लाई बढ़ाने और कीमतों को कम करने के लिए आयात का फैसला लिया गया है।

25 हजार टन प्याज दीवाली तक आ जाएगा

- Advertisement -

मंत्री गोयल के अनुसार देश में सात हजार टन प्याज आ चुका है।  दीवाली तक 25,000 टन प्याज आने का अनुमान है।  साथ ही नई फसल भी बाजार में आ रही है।  सरकार ने इस 23 अक्टूबर से प्याज पर स्टॉक लिमिट लगा दी थी।  थोक व्यापारियों के लिए 25 टन और खुदरा व्यापारियों के लिए 2 टन स्टॉक की लिमिट है।  गोयल ने कहा कि प्याज के बीज की कमी ना हो, इसलिए उसके निर्यात पर रोक लगा दी गई है।

कीमतों को काबू करने के लिए नैफेड की पहल

सरकार ने पिछले सीजन से ही प्याज का स्टॉक शुरू कर दिया था, ताकि दाम बढ़ने के वक्त अतिरिक्त स्टॉक बाजार में उतारा जा सके।  पिछले साल नैफेड ने 57 हजार टन प्याज का स्टॉक किया था।  लेकिन इसमें से 30 हजार टन प्याज खराब हो चुका था। सिर्फ 27 हजार टन बाजार में उतारा जा सका। लेकिन इस बार स्थिति ठीक है।  इस बार नैफेड ने एक लाख टन प्याज का स्टॉक किया था, जिसमें से सिर्फ 25 हजार टन ही खराब हुआ है। इस बीच, प्याज की कीमत बढ़ने के साथ ही केरल, असम, तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना और लक्षद्वीप से 35 हजार टन प्याज का ऑर्डर मिला है। नैफेड राज्यों को 26 रुपये किलो के हिसाब से प्याज दे रहा है।

इसे भी पढ़ें : Vitamin D की सही मात्रा शरीर को रखता है तंदरुस्त

- Advertisement -
spot_img
spot_img
spot_img
spot_img

Published On :

Recent articles

Don't Miss

spot_img