spot_img
Wednesday, August 10, 2022
spot_img
Wednesday, August 10, 2022
spot_img

Related articles

Amazing : ऐसा हो सकता है क्‍या? 40 साल का बेटा, पिता की उम्र 19 साल

- Advertisement -

कोहराम लाइव डेस्क : Amazing – कोई पिता 19 साल का हो और बेटा 40 साल का हो जाए, यह कैसे हो सकता है। इतना ही नहीं उसकी मां की उम्र सिर्फ 14 साल है। चौंक गए न। जी हां, ऐसा हो नहीं सकता है, पर हरियाणा सरकार की ओर से परिवारों को मिले परिवार पहचान पत्र में ऐसा ही दर्शाया गया है। यह गजब की लापरवाही है। कमाल की बात तो यह है कि ऐसा सिर्फ एक ही परिवार के साथ नहीं हुआ है, बल्कि अनेक पहचान पत्रों में ये गलतियां दर्ज हैं।

उल्‍लेखनीय कि लगभग चार महीनों से परिवार पहचान पत्र बनाने की मुहिम हरियाणा में चल रही है। अब तक भिवानी जिले में दो लाख 70 हजार परिवारों के परिवार पहचान पत्र बन चुके हैं। अधिकतर में त्रुटियां हैं। किसी की जाति बदल दी गई है, तो किसी की उम्र उसके बेटा-बेटी से भी कम हो गई है।

- Advertisement -

इसे भी पढ़ें : गया में गरजे PM-Modi, कहा- बिहार में अब लालटेन की जरूरत खत्‍म

Amazing – कोई और बन गया परिवार का मुखिया

सबसे गंभीर बात तो यह है कि पहचान पत्र में परिवार का मुखिया ही किसी दूसरे को बना दिया गया है। इन सभी त्रुटियों को अब जिला प्रशासन ने गंभीरता से लिया है। इसे सुधारने की प्रक्रिया अब शुरू कर दी गई है। प्रदेश सरकार ने प्रत्येक परिवार को एक यूनिक आर्डडी नंबर जारी करने के वास्‍ते परिवार पहचान पत्र बनाए जाने की योजना बनाई थी। इसी के तहत जिले में दो लाख 70 हजार परिवारों के परिवार पहचान पत्र पोर्टल पर जारी किए गए थे।

सामान्‍य श्रेणी वाले बन गए आरक्षित वर्ग के

पोर्टल पर परिवार पहचान पत्र का अधिकांश डाटा मिस मैच यानी परिवार के सदस्यों से मिलान नहीं हो रहा है। सामान्य श्रेणी के परिवार को आरक्षित वर्ग का दर्शाया दिया गया है। ऐसे में उम्र का गणित भी बिगड़ने से परिवार के सदस्यों के संबंधों का मिलान नहीं हो रहा है। त्रुटियों की वजह से परिवार पहचान पत्र किसी भी सरकारी योजना का लाभ लेने में काम नहीं आ रहा है।

इसे भी पढ़ें : Manaatu : यहां बांस की टोकरी चलाती है जिंदगी की गाड़ी

इसे भी पढ़ें : जेरेडा के पूर्व निदेशक निरंजन कुमार समेत चार लोगों पर ACB दर्ज करेगी मामला

- Advertisement -
spot_img

Recent articles

Don't Miss

spot_img