spot_img
Thursday, October 6, 2022
spot_img
spot_img
Thursday, October 6, 2022
spot_img
spot_img

Related articles

spot_img
spot_img

बच्चों के लिए कितना और क्यों जरुरी है Motivation

spot_img
- Advertisement -

कोहराम लाइव डेस्क : बच्चों के जीवन में Motivation एक अहम भूमिका निभाती है। हालांकि Motivation हर उम्र के व्यक्ति के लिए आवश्यक है। हर व्यक्ति के एक सफल जीवन में Motivation एक अहम किरदार निभाता है।

Motivation की जरुरत क्यों पड़ती है?

- Advertisement -

लाइफ में अपने लक्ष्य को निर्धारित करने से लेकर उसे पाने तक के सफर में हर व्यक्ति को Motivate रहने की जरुरत होती है। कई बार लगातार असफलता से हम निराश होकर तनाव का शिकार हो जाते है। ऐसे में हमें एक Positive Counsellor की जरुरत पड़ती है। काउंसेलर हमें Internal और External तौर पर Motivate करते हैं। कुछ समय के अंतराल में हमें Motivation की जरुरत पड़ती है।

बच्चों के लिए Motivation क्यों है जरुरी?

कोरोना के कारण इस साल बच्चों की पढ़ाई आधी-अधूरी रह गई है। बच्चे करीब 8 महीने से घर पर ही हैं। बच्चों का Academic Motivation लेवल बहुत कम हो गया है। अब जरूरत उन्हें नए तरीके से मोटिवेट करने की है, लेकिन क्या आप उन्हें ज्यादा पढ़ाई और ज्यादा नंबर लाने के लिए मोटिवेट करने वाले हैं? यदि हां तो ऐसा बिल्कुल मत करिएगा, क्योंकि यह खतरनाक हो सकता है। कोरोना की वजह से जीने का तौर-तरीका काफी बदला है। आप भी परंपरागत तौर-तरीकों से बाहर आएं। बच्चों की सोच को समझने की कोशिश करें।

इंटर्नल मोटिवेशन और एक्सटर्नल मोटिवेशन, क्या है इनकी भूमिका?

  • इंटर्नल मोटिवेशन से किसी काम को करने में हमें ज्यादा मजा आता है। काम के बाद संतुष्टि मिलती है। इसके अलावा सीखने की हमारी ललक और ज्यादा बढ़ जाती है।
  • एक्सटर्नल मोटिवेशन से किसी काम में हमारा आउटकम यानी परिणाम बेहतर होता है। जैसे- जब हम किसी परीक्षा से पहले कड़ी मेहनत करते हैं और अच्छे नंबर आ जाते हैं तो उसके पीछे हमारी एक्सटर्नल मोटिवेशन होती है।

इसे भी पढ़ें :सोलो Women ट्रैवलर्स के लिए देश के ये पर्यटन स्थल सुरक्षित

पैरेंट्स बच्चों को कैसे मोटिवेट करें?

इंटर्नल मोटिवेशन कई मौकों पर बहुत मददगार होती है। हर पैरेंट्स को अपने बच्चों को आंतरिक तौर पर प्रेरित करना चाहिए। जिंदगी में कई मौके ऐसे आते हैं, जब हम असफल होते हैं, उस वक्त हम इंटरनल मोटिवेशन से अगले मौके के लिए तैयार हो सकते हैं। जब हम जरूरत से ज्यादा रिजल्ट ओरिएंटेड होते हैं और असफलता मिल जाती है तो तनाव में आ जाते हैं। कोरोना के दौर में स्कूल से दूर हो चुके बच्चों को आप इंटर्नल मोटिवेशन के बारे में बताएं।

इसे भी पढ़ें :ललक हो तो जल्‍द मिलेगा कामयाबी का बड़ा फलक

- Advertisement -
spot_img
spot_img
spot_img
spot_img

Published On :

spot_img
spot_img

Recent articles

spot_img

Don't Miss

spot_img