spot_img
Monday, November 28, 2022
spot_img
spot_img
Monday, November 28, 2022
spot_img
spot_img

Related articles

spot_img
spot_img

सीएम ने स्‍कॉलरशिप में की तीन गुना वृद्धि, राज्‍य के 35 लाख बच्‍चों को मिलेगा लाभ

spot_img
spot_img
- Advertisement -

वीडियो कांफ्रेंसिंग में सभी जिलों के डीसी के साथ ‘आपकी योजना, आपकी सरकार, आपके द्वार’ अभियान के क्रियान्वयन  को लेकर बैठक में दिए दिशा-निर्देश 

- Advertisement -

RANCHI: मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने झारखंड मंत्रालय स्थित सभाकक्ष से गुरुवार को ‘आपकी योजना, आपकी सरकार, आपके द्वार’ अभियान के दूसरे चरण के सफल क्रियान्वयन को लेकर सभी प्रमंडलीय आयुक्तों एवं सभी जिलों के डीसी के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से समीक्षा बैठक की। उन्‍होंने कई आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। इस क्रम में सीएम ने राज्‍य में मिल रही स्‍कॉलरशिप की राशि को तीन करने की घोषणा की। इससे 35 लाख स्‍टूडेंट्स को लाभ होगा। मुख्यमंत्री ने बैठक में कहा कि पदाधिकारी जब भी शिविर में जाएं वहां आम जनता के साथ ‘जोहार’ शब्द का प्रयोग करें। अलग-अलग गांव तथा पंचायतों में आम जनता के साथ जब मिलें तो उनकी ही भाषा-संस्कृति को प्राथमिकता में रखते हुए उनसे जुड़ें।

पहले चरण से भी बेहतर रहेगा दूसरा चरण

पदाधिकारी आम जनता की भावनाओं को समझते हुए उन्हें योजना से जोड़ने का काम करें। जनता के साथ और सहयोग से ही राज्य सरकार द्वारा संचालित योजनाओं का शत-प्रतिशत सफल संचालन किया जा सकेगा। ‘आपकी योजना-आपकी सरकार-आपके द्वार’ अभियान का पहला चरण बहुत ही सकारात्मक और सफल रहा है। मुख्यमंत्री ने पदाधिकारियों पर विश्वास जताया कि ‘आपकी योजना-आपकी सरकार-आपके द्वार’ अभियान का पहला चरण से भी बेहतर दूसरा चरण का प्रदर्शन रहेगा।

आठवीं कक्षा की बच्चियों से शुरू होगी सावित्रीबाई किशोरी समृद्ध‍ि योजना 

मुख्यमंत्री ने कहा कि सावित्रीबाई फुले किशोरी समृद्धि योजना का लाभ कक्षा आठवीं में अध्ययनरत बच्चियां से प्रारंभ होगी। जब तक ये बच्चियां 18 से 19 वर्ष की होंगी, तब तक इनको स्वास्थ्य एवं शिक्षा हेतु कुल 40 हजार रुपए की आर्थिक सहायता मिलेगी। यह राशि उन्हें मिलने वाली छात्रवृत्ति के अतिरिक्त उन्हें दी जाएगी। इस योजना का लाभ राज्य के 9 लाख किशोरियों को मिलेगा। पात्र लाभुकों को शिविरों में अनिवार्य रूप से जोड़ने का प्रयास होनी चाहिए, ताकि लक्ष्य को पूरा किया जा सके। मुख्यमंत्री ने कहा कि सर्वजन पेंशन योजना राज्य के लिए एक महत्वपूर्ण योजना है। करीब 10 लाख नए लोगों को पिछले एक साल में इस योजना से जोड़ा गया है। अभी भी कई लोग छूटे हैं जिन्हें इस एक महीने के अभियान के दौरान जोड़ना है। आप यह लक्ष्य निर्धारित करें कि इस एक माह के अभियान में कम से कम 5 लाख नए पात्र लोगों को जोड़ा जा सके। सर्वजन पेंशन योजना के तहत जितने भी आवेदन प्राप्त हुए हैं उन आवेदनों का निस्तारण तीव्र गति से कर लक्ष्य को पूरा करें।

प्रत्येक गांव में 5-5 योजनाएं करें स्वीकृत

मुख्यमंत्री ने कहा कि किसान क्रेडिट कार्ड (केसीसी) के अंतर्गत 14 लाख नए किसानो को जोड़ा गया है। अभी भी करीब आठ लाख आवेदन बैंकों में लंबित हैं जिन्हें इस अभियान के दौरान निष्पादित किया जाना है। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में सुखाड़ की स्थिति को देखते हुए प्रत्येक गांव में 5-5 योजना अविलंब स्वीकृत करें। मुख्यमंत्री ने कहा कि मनरेगा के तहत मिलने वाले मजदूरी का भुगतान ससमय हो यह सुनिश्चित करें। ध्यान रखें कि मजदूर वर्ग को वेजेज में देर नहीं हो अन्यथा मनरेगा के प्रति लोगों का रुझान घटेगा। मजदूर वर्ग को और रोज कमाना और खाना पड़ता है। मजदूर रोज अनाज खरीदते हैं तभी उनके घर चूल्हे जलते हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि पदाधिकारी जिस दिन गांव या पंचायत में शिविर लगाते हैं उसी दिन गांव में पांच योजनाओं का शिलान्यास अवश्य करें, ताकि रोजगार का सृजन शीघ्र प्रारंभ हो सके। मनरेगा के मेजर कॉम्पोनेंट पर कार्य करना सुनिश्चित करें। राज्य में 1 लाख कुआं 50 हजार पशु शेड तथा तालाब की खुदाई का काम किया जाना है। इन योजनाओं को मूर्त रूप दें। मुख्यमंत्री ने कहा कि ‘आपकी योजना-आपकी सरकार-आपके द्वार’ अभियान के दूसरे चरण में 7 से 8 लाख लाभुकों को हरा राशन कार्ड से जोड़ने का लक्ष्य रखा गया है। राशन कार्ड से संबंधित आवेदनों का शीघ्र निस्तारण करें। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में मुख्यमंत्री रोजगार सृजन योजना की शुरुआत हुई है। इस योजना को सरल प्रक्रिया के साथ प्रारंभ किया गया। पदाधिकारी जब भी क्षेत्र भ्रमण में जाएं रोजगार सृजन को लेकर प्रक्रिया में और क्या सुधार हो सकता है इसका सुझाव हमें दें। अधिक से अधिक रोजगार सृजन सरकार की प्राथमिकता है।

हड़िया-दारू बेचने से जुड़ीं महिलाओं को फूलो झानो आशीर्वाद योजना से जोड़ें

मुख्यमंत्री ने कहा कि वैसी माताएं-बहनें जो हड़िया-दारू बेचने के काम से जुड़ी हैं उन्हें फूलो झानो आशीर्वाद योजना से जोड़कर स्वाबलंबी बनाएं। ग्रामीण क्षेत्रों में महिला स्वयं सहायता समूह से जुड़कर ऐसी माताओं-बहनों को चिन्हित कर योजना से जोड़ने का कार्य करें। मुख्यमंत्री ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों के लिए मुख्यमंत्री पशुधन योजना प्रभावकारी योजना है। लाभुकों को पशुधन योजना के प्रति जागरूक करें। पशुपालन झारखंड का परंपरागत व्यवसाय रहा है। यह कार्य सहज ता के साथ किया जा सकता है। मुख्यमंत्री ने कहा कि पदाधिकारी ग्रामीणों के विश्वास को हकीकत में बदलने का काम करें। आपकी योजना-आपकी सरकार-आपके द्वार अभियान के पहले चरण के अनुभव का लाभ लें।

क्षेत्र भ्रमण कर अभियान का निरंतर मुआयना करें वरीय पदाधिकारी

मुख्यमंत्री ने कहा कि ‘आपकी योजना, आपकी सरकार, आपके द्वार’ अभियान के तहत आयोजित किए जाने वाले कार्यक्रमों का सघन पर्यवेक्षण तथा उपायुक्तों को सतत मार्गदर्शन प्रदान करने के लिए जो वरीय पदाधिकारी नामित हैं वे क्षेत्र भ्रमण कर योजनाओं का निरंतर अनुश्रवण करें। मुख्यमंत्री ने कहा कि यह अभियान सिर्फ एक महीने तक ही नहीं बल्कि आगे भी निरंतर चलती रहेगी।

इनकी रही मौजूदगी

बैठक में मुख्य सचिव सुखदेव सिंह, विकास आयुक्त अरुण कुमार सिंह, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव राजीव अरुण एक्का, प्रधान सचिव वंदना दादेल, प्रधान सचिव अविनाश कुमार, प्रधान सचिव अजय कुमार सिंह, मुख्यमंत्री के सचिव विनय कुमार चौबे, सचिव हिमानी पांडे, सचिव आराधना पटनायक, सचिव केके सोन, सचिव सुनील कुमार, सचिव राहुल कुमार पुरवार, सचिव अमिताभ कौशल, सचिव राहुल शर्मा, सचिव के. रवि कुमार, सचिव राजेश कुमार शर्मा, सचिव अब्बुबकर सिद्धकी.पी, सचिव प्रवीण टोप्पो, सचिव प्रशांत कुमार, सचिव के.श्रीनिवासन, सचिव कृपानंद झा, सचिव मनोज कुमार एवं सचिव विप्रा भाल सहित अन्य पदाधिकारी उपस्थित थे। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में सभी प्रमंडलीय आयुक्त एवं सभी जिलों के डीसी थे।

इसे भी पढ़ें :अचानक रोने-गिड़गिड़ाने लगा CI ऑफिस का मुंशी विकास… देखें क्यों

इसे भी पढ़ें :भाई से बोला कुरियर बॉय- अब हम नहीं बचेंगे… और फिर

इसे भी पढ़ें :खूबसूरत मॉडल की पैंट की जेब में हाथ डाली पुलिस तो…

इसे भी पढ़ें :माताओं-बहनों से सीएम की अपील, कहा न बेचें हड़िया-दारू

इसे भी पढ़ें :रोकने-टोकने और धरने वाला कोई नहीं… देखें

इसे भी पढ़ें :इस दिवाली फीकी रहेगी पटाखों की धमक, सुप्रीम कोर्ट ने कहा…

इसे भी पढ़ें : सीएम ने गिरिडीह में 976 करोड़ 56 लाख की परिसंपत्तियों का किया वितरण

इसे भी पढ़ें : रोकने-टोकने और धरने वाला कोई नहीं… देखें

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

spot_img
spot_img
spot_img

Published On :

spot_img
spot_img

Recent articles

spot_img

Don't Miss

spot_img