spot_img
Monday, November 28, 2022
spot_img
spot_img
Monday, November 28, 2022
spot_img
spot_img

Related articles

spot_img
spot_img

खूबसूरत मॉडल की पैंट की जेब में हाथ डाली पुलिस तो…

spot_img
spot_img
- Advertisement -

Ranchi : नशे के पांच सौदागरों को रांची की सुखदेवनगर पुलिस ने दबोचा है। इनमें दो महिलाएं भी शामिल हैं। दोनों रिश्ते में मां-बेटी हैं। बेटी पहले मॉडल का काम करती थी। गिरफ्तार नशे के कारोबारियों के पास से कुल 36 ग्राम ब्राउन शुगर, 2 लाख 90 हजार रुपये कैश, चार मोबाइल फोन और एक इलेक्ट्रॉनिक वेट मशीन जब्त किया गया है।

- Advertisement -

बीते कल यानी मंगलवार को रांची पुलिस कप्तान किशोर कौशल को खबरीलाल ने खबर दी कि ज्योति शर्मा नाम की मॉडल अपनी मां के साथ ड्रग्स का धंधा कर रही है। युवाओं के रगों में नशा घोलना इनकी फितरत है। इस काम कुछ और लोग भी उसका साथ दे रहे हैं। उसका घर सुखदेवनगर थाना इलाके के गंगानगर में है। मिली सूचना को पुलिस कप्तान ने गंभीरता से लिया। सिटी एसपी अंशुमान कुमार की देखरेख में कोतवाली डीएसपी प्रकाश सोय के नेतृत्व में तुरंत एक टीम का गठन किया गया। टीम में सुखदेवनगर थानेदार ममता कुमारी को भी शामिल किया गया। टीम ने ज्योति शर्मा के घर पर धावा बोल दिया।

पुलिस ने जब नैन-नक्श से खूबसूरत ज्योति की पैंट की दाहिने पॉकेट में हाथ डाला तो एक सिल्वर फ्लैप में लपेटा हुआ ब्राउन शुगर मिला। उसकी मां मोनी देवी के पास से पांच पुड़िया ब्राउन शुगर जब्त किया। यह ड्रग्स उसने एक काले रंग के बॉक्स में रखा था। वहां मौजूद अर्जुन शर्मा उर्फ शेरा और बलराम उर्फ विक्की के पास से भी पुलिस ने ड्रग्स बरामद किया है।

पुलिस को दिये अपने बयान में गिरफ्तार तस्करों ने खुलासा किया कि उनका एक साथी और है। उसका नाम राहुल शर्मा है। ड्रग्स बेच कर जो पैसे मिलते हैं, उसी के पास रहते हैं। पुलिस ने छापेमारी कर राहुल को भी दबोच लिया। वहीं, उसकी निशानदेही पर पुंदाग के एक घर में छुपाकर रखे हुए 27 ग्राम ब्राउन शुगर बरामद किया गया। गिरफ्तार तसकरों ने पुलिस को बताया कि ब्राउन शुगर सासाराम से रांची लाया जाता है। आने-जाने के लिए बस का इस्तेमाल किया जाता है। पहले ऑनलाइन ग्राहक खोजे जाते हैं। फिर सौदा तय होने पर जगह और समय तय किया जाता है। इसके बाद ड्रग्स की डिलिवरी कर दी जाती है।

यहां याद दिला दें कि ज्योति शर्मा और अर्जुन शर्मा का पहले से आपराधिक इतिहास रहा है। ज्याति के खिलाफ रांची के सुखदेवनगर थाना में मामला दर्ज है। वहीं, अर्जुन को साल 2016 के एक मर्डर केस में उम्रकैद की सजा हुई है। वह अभी जमानत पर बाहर है। वहीं तुपुदाना थाना में भी उसके खिलाफ साल 2019 में मामला दर्ज किया गया था।

इन नशे के सौदागरों को दबोचने में कोतवाली डीएसपी प्रकाश सोय, सुखदेवनगर थानेदार ममता कुमारी, एसआई धर्मदेव भगत, राजीव रंन, और मृत्युंजय कुमार की सराहनीय भुमिका रही।

इसे भी पढ़ें : सीएम ने गिरिडीह में 976 करोड़ 56 लाख की परिसंपत्तियों का किया वितरण

इसे भी पढ़ें : रोकने-टोकने और धरने वाला कोई नहीं… देखें

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

spot_img
spot_img
spot_img

Published On :

spot_img
spot_img

Recent articles

spot_img

Don't Miss

spot_img