- Advertisement -

मनी लांड्रिंग के तहत ED की जांच के दौरान उसके ठिकाने से जब्त पांच एसयूवी गाड़ियों का रजिस्टर्ड नंबर भी फर्जी पाये गये थे। इसके बाद ED ने अरगोड़ा थाने में लिखित शिकायत की थी। ED के क्षेत्रीय कार्यालय रांची के सहायक निदेशक विनोद कुमार की शिकायत पर अरगोड़ा थाने में प्राथमिकी दर्ज की गई है।

ED जांच में यह बात सामने आई थी कि संजय तिवारी ने पांच लग्जरी गाड़ियों में फर्जी रजिस्टर्ड नंबर लगवा रखे थे। ED ने संजय तिवारी को मनी लांड्रिंग मामले में 23 नवंबर 2011 को गिरफ्तार किया था। तब उसके घर से ED ने पांच गाड़ियों को जब्त किया था। ED जांच में यह भी बात सामने आई है कि उसने NHAI का भी फर्जी पहचान पत्र बनवा रखा था, जिसका उसने गलत उपयोग किया।

इसे भी पढ़ें : रांची के चर्च कॉम्प्लेक्स में अचानक चीखने-चिल्लाने लगे लोग… देखें वीडियो

इसे भी पढ़ें : सालों से गैर-कानूनी तरीके से चले आ रहे अभ्रक उद्योग पर लगेगा विराम

इसे भी पढ़ें : T20 @Ranchi : Online टिकट खरीदने के बाद नहीं लगना पड़ेगा लाइन में… देखें क्यों

इसे भी पढ़ें : PLFI ने भेजी चिट्ठी, मांगे 1 करोड़… दहशत