spot_img
Thursday, August 18, 2022
spot_img
Thursday, August 18, 2022
spot_img
spot_img

Related articles

रेप के दोषियों और पैरवी करने वालों पर होगी सख्‍त कार्रवाई : DGP

- Advertisement -

रांची : DGP एमवी राव ने मंगलवार को पुलिस मुख्यालय में पीसी की। उन्होंने कहा कि पुलिस अपराध नियंत्रण को लेकर पूरी तरह तत्पर है। महिलाओं पर हो रहे अत्याचार को लेकर पुलिस सतर्क है। राज्य सरकार हर तरह का संसाधन मुहैया करा रही। DGP एमवी राव ने कहा कि ड्रग्स बेचने वालों के खिलाफ 1 से 14 नवंबर के बीच अभियान चलाया जाएगा और यह भी कहा कि अवैध शराब, ड्रग्स खरीदा -बेचा गया तो थाना प्रभारी नपेंगे। उन्होंने कहा कि बाइकर्स के उत्पात के लिए डीएसपी जिम्मेदार होंगे। किसी भी संदिग्ध मौत होने पर एसपी स्वयं उस मामले की जांच करेंगे। डीजीपी ने कहा कि रेप की घटनाओं में दोषियों को किसी भी कीमत पर बख्‍शा नहीं जाएगा। दोषियों की पैरवी करने वालों पर भी होगी कड़ी कार्रवाई, चाहे वो जो भी हो।

इसे भी पढ़ें : प्यार, धोखा, भरोसे का खून… Tara के इश्क का अंजाम, मारा गया सेना का जवान (VIDEO)

- Advertisement -

महिलाओं की शिकायत पर कार्रवाई शुरू 

डीजीपी ने कहा कि पिछले सप्ताह महिलाओं की मदद के लिए शुरू किए गए वाट्सएप नंबर का भी रिस्पांस अच्छा है। एक सप्ताह में 108 महिलाओं की शिकायते मिली हैं। जिसमें सबसे अधिक 28 रांची में, 18 गिरिडीह और 12 मामले जमशेदपुर में आए। 108 मामलों में अधिकांश घरेलू व पड़ोसियों के साथ विवाद, पारिवारिक मारपीट, पति-पत्नी के झगड़े के मामले सामने आए। कुछ मामले प्रेमी-प्रेमिका के भी आए हैं, जिसमें शादी का प्रलोभन देकर यौन शोषण करने व गर्भपात कराने की बात सामने आई है। जिसमें प्राथमिकी दर्ज कर कार्रवाई की जा रही है। रांची में एक युवती ने अपने ब्वाय फ्रेंड की शिकायत की है कि उसकी कुछ तस्वीरें जो आपत्तिजनक है, उसे वापस कराई जाए। जिस पर कार्रवाई की जा रही है। दो जिले साहेबगंज और खूंटी में एक भी शिकायत नहीं आई।

रेप की घटना को दबाने वालों पर भी होगी कार्रवाई

डीजीपी ने कहा कि महिला अपराध रोकने के लिए थानों को अतिरिक्त फंड मिलेंगे, ताकि जरूरत के अनुसार सीसीटीवी की संख्या बढ़ाई जा सके। महिलाओं के लिए राज्य के 300 थानों में हेल्प डेस्क खोले जाएंगे, जो महिला अधिकारियों द्वारा संचालित होंगे। अगर किसी गांव में नाबालिग के साथ दुष्कर्म की घटना होती है और पंचायती कर मामले को रफा-दफा या दबाने की कोशिश की जाती है, तो ऐसे लोगों पर भी प्राथमिकी दर्ज कर कार्रवाई होगी।

- Advertisement -
spot_img
spot_img
spot_img
spot_img

Published On :

Recent articles

Don't Miss

spot_img