spot_img
Wednesday, August 10, 2022
spot_img
Wednesday, August 10, 2022
spot_img

Related articles

500 ट्रेन, के साथ 10000 रेलवे स्टेशन तक हो सकते हैं गायब : इंडियन रेलवे

- Advertisement -

देशभर में कोरोनावायरस की वजह से लगे लॉकडाउन ने रेलवे सेवाओं को लगभग ठप कर दिया। खासकर यात्री ट्रेनों को। हालांकि, अनलॉक के अलग-अलग फेजों में ट्रेनों की संख्या लगातार बढ़ाई जा रही है। इस बीच खबर है कि रेलवे महामारी के बाद के समय के लिए तैयार किए जा रहे अपने नए ऑपरेशन टाइमटेबल से कुछ 500 रेगुलर ट्रेन हटा सकता है। इतना ही नहीं ट्रेनों के करीब 10 हजार स्टॉप को भी रेलवे नेटवर्क से हटाया जा सकता है। रेलवे अपनी कमाई बढ़ाने के लिए बिना कोई अतिरिक्त प्रयास के काम करना चाहती है. रेलवे का अनुमान है कि उसके टाइम टेबल में बदलाव करने से ही उसका यह लक्ष्य पूरा हो सकता है

यात्रियों को नहीं होगी परेशानी
रेलवे ने कहा है कि नए टाइम टेबल में इस बात का पूरा ध्यान रखा गया है कि ट्रेनों के बंद होने से यात्रियों को किसी प्रकार की दिक्कत नहीं हो। यात्रियों के लिए उन ट्रेनों की जगह दूसरी ट्रेनों का विकल्प मौजूद रहेगा।

- Advertisement -

दरअसल, रेलवे जीरो-बेस्ड टाइमटेबल के जरिए आगे अपनी सालाना कमाई 1500 करोड़ रुपए तक बढ़ाने पर ध्यान दे रहा है। रेलवे यह अतिरिक्त कमाई बिना किराया या अन्य चार्ज बढ़ाए ही पाना चाहता है। रेलवे की अनुमानों के मुताबिक, अतिरिक्त कमाई टाइमटेबल में आधारभूत बदलाव के जरिए हासिल की जाएगी।

रेलवे के जीरो बेस्ड टाइम टेबल का प्रयोग करते हुए 15 फीसदी मालगाड़ियों के लिए जगह बनाई जाएगी. इससे वे किसी विशेष कॉरिडोर पर तेज स्पीड से चल सकेंगी. इस वजह से रेलवे के पूरे नेटवर्क में भी ट्रेन की संख्या घटने से यात्री ट्रेन की रफ्तार 10 फीसदी तक बढ़ने से रेलवे को खर्च घटाने में मदद मिलेगी

इसे भी पढ़े;कंगाल इमरान खान को झटका, राष्‍ट्रपति शी जिनपिंग ने पाकिस्तान को अपना दौरा रदद किया

इसे भी पढ़े :उम्मीद है अब शतरंज खिलाड़ियों को भी मिलेंगे राष्ट्रीय पुरस्कार : आनंद

इसे भी पढ़े :अपनी खाकी वर्दी का सम्मान हमेशा बनाए रखें: पीएम मोदी

- Advertisement -
spot_img

Recent articles

Don't Miss

spot_img