spot_img
Thursday, August 18, 2022
spot_img
Thursday, August 18, 2022
spot_img
spot_img

Related articles

यह लूर लक्षण दिखने लगे तो समझें खतरनाक हेपिटाइटिस : डॉ वर्मा

- Advertisement -

Ranchi (Bhavna Thakur) : थकान, जोड़ों और मांसपेशियों में दर्द, बुखार, दाहिने तरफ पेट में दर्द, सीने के ऊपरी भाग में दर्द, पाचन क्रिया का कमजोर हो जाना, जी मचलना, उल्टी होना और हमेशा लेट कर आराम करने की फिलिंग। बदन में ऐसे लूर लक्षण दिखने लगे तो इसे हल्के में ना लें, यह खतरनाक रोग हेपिटाइटिस बीमारी होने का संकेत भी हो सकता है। यह कहना है राजधानी रांची के मशहूर चिकित्सक डॉ. उमा शंकर वर्मा का। मौका था वर्ल्ड हेपिटाइटिस डे पर यूएस पॉलीक्लिनिक में आयोजित निशुल्क चिकित्सा शिविर का। डॉ वर्मा ने आगे कहा कि अगर आंखों का रंग पीला, पेशाब गहरा पीला, कभी कभी बदन भी पीला पड़ने लगे तो इसपर भी गौर करना चाहिये। वर्ष 2000 तक हेपिटाइटिस से लड़ने की खातिर इंजेक्शन नहीं था, लेकिन अब वैक्सीन और इंजेक्शन दोनों आ गई है।

हेपिटाइटिस 5 तरह की होती है हेपिटाइटिस

हेपिटाइटिस बीमारी 5 तरह की होती हैं, जैसे हेपेटाइटिस ए बी सी डी ई। इसमें हेपिटाइटिस B और C सबसे खतरनाक और जानलेवा है। वायरस इंफेक्शन, बैक्टेरिया और कभी कभी अन्य इन्फेंक्शन हेपिटाइटिस जैसे घातक बीमारी का कारण हो जाता है। गंदा पानी, दूषित भोजन, संक्रमित व्यक्ति से सीधे संपर्क में आना और इनफेक्टेड सिरिंज का इस्तेमाल भी कभी कभी घातक हो जाता है। डॉ वर्मा ने कहा कि आपसी संबंध में सावधानी, अपना टूथपेस्ट, टूथब्रश, साबुन, तौलिया को संक्रमित लोगों से अलग रख इस खतरनाक बीमारी की जकड़ में आने से बचा जा सकता है। साफ सफाई पर ज्यादा फोकस देना जरूरी है। खाने पीने पर ज्यादा गौर करने की जरूरत है। टीकाकरण फायदेमंद है। हेपेटाइटिस है या नहीं है, यह लीवर फंक्शन टेस्ट, अल्ट्रासाउंड, लीवर बायोप्सी टेस्ट तथा फिजिकल टेस्ट से पता लगाया जा सकता है।

हर साल पूरी दुनिया में करीब 8 लाख 20 हजार लोगों की हो जाती है मौत 

- Advertisement -

हर साल पूरी दुनिया में करीब 8 लाख 20 हजार लोगों की मृत्यु हेपेटाइटिस B से और 2 लाख 29 हजार लोग हेपिटाइटिस C से असमय काल के गाल में समा जाते हैं। डॉ वर्मा ने कहा कि पूरी दुनिया में आज ही के दिन यानी 28 जुलाई को नोबेल पुरस्कार विजेता प्रोफेसर बारूच सैमुएल बलमवर्ग के जन्मदिन के अवसर पर वर्ल्ड हेपिटाइटिस डे मनाया जाता है। राजधानी रांची के कचहरी चौक स्थित यूएस पॉलीक्लिनिक में आयोजित निशुल्क शिविर में करीब 75 रोगियों का इलाज मुफ्त में किया गया। वहीं मुफ्त में इन्हें दवायें भी दी गई।

इसे भी पढ़ें : Google ने Gmail में किया बड़ा बदलाव

इसे भी पढ़ें :जज उत्तम आनंद मौत मामले में ड्राइवर लखन और राहुल दोषी करार, 6 अगस्त को सजा का ऐलान

इसे भी पढ़ें :दिनदहाड़े गैस एजेंसी के ड्राइवर को गोलियों से भून डाला…देखें

इसे भी पढ़ें :मटियाने वाली पुलिस को खोज निकालेगी अब यह विदेशी एप्प

इसे भी पढ़ें :जीरो रिस्क पर खुलवाएं Post Office में अकाउंट ! हर महीने मिलेंगे इतने रुपये

इसे भी पढ़ें :केवल 1499 रुपये में हवाई सफर करने का मौका, यहां देखें ऑफर की डिटेल

इसे भी पढ़ें : याराना हुआ लहूलुहान, देखें क्या बोले SP

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

spot_img
spot_img
spot_img
spot_img

Published On :

Recent articles

Don't Miss

spot_img