29 C
Ranchi
Saturday, September 25, 2021
spot_img

Latest Posts

MLA अनूप सिंह का इल्जाम, सरकार गिराने के लिए लग रही बोली…देखें वीडियो

  • 3 धराये,औकात 320 का, खाक गिरायेंगे सरकार

रांची : शासन प्रशासन के इक्का-दुक्का का दावा है कि सीएम हेमंत सोरेन की सरकार गिराने की कोशिश में ‘हवाला’ की ताकत का खेल शुरू है। यह दावा करते हुए सत्ता में शामिल कांग्रेस के बेरमो विधायक कुमार जय मंगल उर्फ अनुप सिंह ने रांची के कोतवाली थाना में FIR दर्ज कराया है। यह प्राथमिकी भादवि की धारा 419/420/124(A)/120(B)/34 के तहत दर्ज की गयी है। MLA अनुप सिंह का इल्जाम है कि कुछ रसूखदार और राजनीति के गुरूघंटाल कुछ विधायकों को खरीद-फरोख्त कर तोड़ने में लगे हैं। फाइनेंसर भी तैयार है। वहीं रांची पुलिस ने कहा है कि विधायक अनुप सिंह के इल्जाम में दम है। कुछ दिन पहले हवाला कारोबारी को पकड़ने के लिए पुलिस ने हाइवे और चेकनाका में अपनी पूरी ताकत झोंक दी थी। तब कुछ नहीं मिला था।

रांची पुलिस का कहना है कि सरकार गिराने की साजिश करने वाले में शामिल तीन को पकड़ लिया गया है। गिरफ्तार लोगों ने अपना जुर्म भी कबूल कर लिया है। गिरफ्तार लोगों के बारे पूछने पर कोतवाली इन्स्पेक्टर शैलेश गुप्ता मौनी बाबा बन गये। वहीं शाम में रांची पुलिस ने एक प्रेस बयान जारी कर सिर्फ इतना कहा… सबकी जीवन कुंडली खंगाली जा रही है। पुलिस का कहना है कि गिरफ्तार लोगों के पास से मिले दस्तावेज और इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों की जांच की जा रही है। प्रेस विज्ञप्ति में नगद मिलने का कोई जिक्र नहीं है। गिरफ्तारी कहां से और कब की गयी… इसका भी जिक्र नहीं है। गिरफ्तार लोगों के नाम निवारण प्रसाद महतो, अमित सिंह और अभिषेक दूबे बताये गये। तीनों क्रमश: धनबाद, बोकारो और पलामू के रहने वाले हैं।

अनुप सिंह ने पुलिस को दिये अपने बयान में कहा है झामुमो, कांग्रेस और राजद की गठबंधन की सरकार को अस्थिर करने और सरकार की छवि को धूमिल करने की कोशिश की जा रही है। एक षडयंत्र के तहत राजनीति के कुछ खिलाड़ी राजधानी रांची में पनाह लिए हुए हैं। अलग-अलग होटलों में नाम बदल कर ठहरे लोग सरकार गिराने में दिमाग और ताकत लगा रहे हैं। नाम नहीं छापने की शर्त पर सत्ता पक्ष के एक वरिष्ठ नेता ने कहा… यह सच है कि युवा और जांबाज सीएम हेमंत सोरेन की पीठ में खंजर भोंकने वालों की कमी नहीं। माफिया तंत्र परेशान है। कुछ दिन पहले बंगाल के एक रिसॉर्ट में कई ‘सूरवीर’ जुटे। इनमें जमीन माफिया, कोयला माफिया से लेकर कुछ गिने-चुने बिल्डर, ठेकेदार और गुंडे शामिल थे। ये वैसे लोग थे जिन्हें हेमंत सरकार ने तीखी चोट दी है।

एक बिल्डर का घाव अब भी हरा। वहीं कुछ ऐसे भी हैं जो मंत्री बनने की चाह में कुछ भी कर गुजरने की तमन्ना रखते हैं। एक मालदार, जानदार और शानदार नेता को कुछ दिन पहले एक ऑफर मिला। ऑफर यह था कि कांग्रेस और झामुमो के नेताओं को तोड़ लाओ। इनाम ऐसा मिलेगा, सोचा भी नहीं होगा। इस दिग्गज नेता ने अपनी पूरी ताकत और दिमाग लगानी शुरू कर दी। कभी दिल्ली में, कभी बंगाल में तो कभी झारखंड में मीटिंग-सीटिंग होने लगी। 6 विधायकों ने टूटने का मन भी बना लिया। पर बाद में टूटने वाले विधायक आपस में लीडरशिप के मसले पर बिदक गये। अब भी हेमंत सरकार को गिराने के लिए पूरी ताकत और दिमाग लगाने वाले लगा रहे हैं। मंत्री बनने की चाहत में तीन विधायक एड़ी-चोटी एक किये हुए हैं।

वहीं सरकार गिराने की साजिश में अबतक जो भी पकड़े गये हैं उनके परिवार के लोगों का कहना है कि हम रोज कमाने-खाने वाले हैं। जो रोज 320 रुपये कमाता है, वह सरकार कैसे गिरायेगा। 320 रुपये में टीशर्ट तक नहीं मिलता… सरकार क्या गिरेगी। गिरफ्तारी हुई बोकारो से… दिखाया जा रहा रांची। देखें, सुनें, समझें क्या बोल गये जेल भेजे गये लोगों के परिजन…

Read more: मेरी नहीं तो किसी की नहीं, देखें वीडियो…

Read more: लौट जाओ बहिन, दिन रात यहां रौंदा जाता है देह… देखें वीडियो

Latest Posts

Don't Miss

Photo News