spot_img

पंडित को थप्पड़ मारने वाले DM को लेकर ट्विटर यूजर्स में भिड़ंत, मीम्स वायरल

त्रिपुरा की राजधानी अगरतला में एक शादी समारोह में पहुंच कर कोरोना प्रोटोकॉल के नाम पर पुरोहित और दूल्हे को पीटने वाले आरोपी डीएम को लोग सस्पेंड करने की मांग कर रहे हैं. ऐसे में उन्हें सस्पेंड किए जाने की मांग को लेकर कई फनी मीम्स भी खूब वायरल हो रहे हैं. कुछ लोग सोशल मीडिया पर उनकी शादी में की गई कार्रवाई का समर्थन भी कर रहे हैं और उन्हें सस्पेंड किए जाने के खिलाफ हैं.

बता दें कि पश्चिमी अगरतला के डीएम शैलेश कुमार यादव की इस हरकत का वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हुआ था. इसके बाद त्रिपुरा के सत्ताधारी पार्टी बीजेपी के कई विधायकों ने भी उनके खिलाफ कार्रवाई की मांग की थी. इसके बाद वहां के मुख्यमंत्री  बिप्लब कुमार देव डीएम के खिलाफ जांच करने का आदेश दिया है. 

डीएम शैलेश कुमार यादव का जो वीडियो वायरल हुआ है उसमें दिख रहा है कि वो एक मैरिज हॉल में घुसते हैं और वहां मौजूद लोगों को अपशब्द कहने लगते हैं. इतना ही नहीं वो पुलिसकर्मी से वहां मौजूद मेहमानों को मारने के लिए भी कहते हैं. जब वहां मौजूद मेहमान उनसे बात करने की कोशिश करते हैं तो डीएम तुरंत उन्हें गिरफ्तार करने का आदेश दे देते हैं

डीएम वीडियो में वहां शादी कराने आए पुरोहित को भी चाटा मारते हुए नजर आ रहे हैं. हालांकि जिस परिवार ने शादी का आयोजन किया था उन्होंने जिलाधिकारी से पहले ही इसकी आज्ञा ली थी लेकिन जब उन्होंने दस्तावेज दिखाए तो डीएम ने उसे फाड़ कर उन्हीं पर फेंक दिया.

शादी समारोह में पहुंचकर डीएम की इस बदसलूकी का वीडियो सामने आने के बाद बीजेपी विधायक आशीष दास ने निलंबन की मांग करते हुए अगरतला में गांधी प्रतिमा के नीचे धरना दिया था. विधायक ने मांग की थी कि डीएम ने जो किया है, उसके लिए उनके खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जानी चाहिए. हालांकि विवाद बढ़ने के बाद डीएम ने इस पर माफी मांग ली थी.

अब यह भी जान लीजिए शादी समारोह में पहुंचकर अपने पद का रौब दिखाने वाले डीएम शैलेश कुमार यादव कौन हैं. डॉ. शैलेश कुमार यादव साल 2003 बैच के IAS अधिकारी हैं. उन्‍होंने दूसरे प्रयास में यूपीएससी परीक्षा पास की थी. वो मूल तौर पर उत्तर प्रदेश के अंबेडकर नगर के रहने वाले हैं. वो मणिपुर कैडर के आईएएस अधिकारी हैं. हालांकि सोशल मीडिया पर कुछ लोग उनकी इस कार्रवाई का समर्थन भी कर रहे हैं.

जिलाधिकारी शैलेश कुमार यादव ने कोरोना प्रोटोकॉल के तहत रात 10 बजे के बाद भी शादी कार्यक्रम को लेकर प्रशासन के साथ सहयोग नहीं करने पर पुलिस के खिलाफ गुस्सा जाहिर किया था. डीएम ने पूर्वी अगरतला पुलिस स्टेशन के प्रभारी अधिकारी और कुछ ऑन-ड्यूटी पुलिस कर्मियों को निलंबित करने की सिफारिश भी की थी.

वहीं इस घटना को लेकर पीड़ित का परिवार अभी तक सदमे में है. जिस युवती की शादी थी उसके भाई ने भी डीएम के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई है. उन्होंने कहा कि हमारा पूरा परिवार इसे घटना को नहीं भूल पा रहा है और आरोपी अधिकारी के खिलाफ हम कानूनी लड़ाई लडेंगे.

- Advertisment -spot_img

Most Popular